VISHNU PURAN PART 2 – विष्णु पुराण दूसरा अध्याय

सत्यव्रत की बातें सुनकर मछली समुद्र के बीच पहुँची, एक महा पर्वत की भांति समुद्र की लंबाई तक फैलकर बोली, ‘‘सत्यव्रत, देखा, तुम्हारी वाणी अचूक निकली और अचूक रहेगी। न … Read More

VISHNU PURAN – विष्णु पुराण पहला अध्याय

विष्णु पुराण’ VISHNU PURAN अठारह महापुराओं में से एक है, जो हिंदू धर्म के प्राचीन और मध्ययुगीन ग्रंथों की एक शैली है। यह वैष्णववाद साहित्य संगठित में एक महत्वपूर्ण पंचरात … Read More